शेर-ओ-शायरी

<< Previous  आँखें  ( Eyes )  Next >>

उस घड़ी देखो उसका आलम,
नींद में जब हो आंख भारी।

-असर लखनवी

1. आलम - स्थिति, दशा, हालत


*****

उसकी कुदरत देखता हूँ तेरी आँखें देखकर,
दो पियालों में भरी है कैसे लाखों मन शराब।


1. कुदरत - ताकत, शक्ति

*****

 

एक-सी शोखी खुदा ने दी है हुस्नो -इश्क को,
फर्क बस इतना है वो आंखों में है,ये दिल में हैं।

-'जलाल' लखनवी

*****

क्या पूछते हो शोख निगाहों का माजरा,
दो तीर थे जो मेरे जिगर में उतर गये।

-दिल शाहजहाँपुरी

 

*****

 

<< Previous   page -1-2-3-4-5-6-7-8-9-10-11-12-13-14-15-16-17-18-19  Next >>