शेर-ओ-शायरी

   बधाई  (Felicitation)

तुम सलामत रहो हजार बरस,
हर बरस के हों दिन पचास हजार।

-मिर्जा गालिब

 

*****