शेर-ओ-शायरी

<< Previous  बेवफाई (Ungratefulness)   Next >>

बेगाने जो शुरू से हैं उनका जिक्र क्या,
अपने भी गैर हो गये, इसका मलाल है।

-अम्न लखनवी

 

*****

मिट गया जब मिटने वाला, फिर सलाम आया तो क्या,
दिल की बर्बादी के बाद उनका पयाम आया तो क्या?

-'दिल' शाहजहाँपुरी


1. अपराध, जुर्म 2.पयाम - संदेशा, समाचार, खबर

 

*****


मुझको तो होश नहीं, तुमको खबर हो शायद,
लोग कहते हैं कि तुमने मुझे बर्बाद किया।

-'जोश' मलीहाबादी

 

*****

मुझे जख्म ही मिले हैं मैं जहाँ-जहाँ गया हूँ,
कभी दुश्मनी के बदले कभी दोस्ती के बदले।

 

*****

 

   << Previous  page - 1-2-3-4-5-6-7-8-9-10-11-12-13-14-15-16-17-18-19-20-21-22-23-24-25-26-27-28-29-30-31-32-33-34-35-36-37-38-39-40-41-42-43-44-45  Next >>