शेर-ओ-शायरी

फ़राख़दिली  (Large-heartedness)   Next >>

'अदम' इन्सान जब गहरी नजर डाले हवादिस पर,
तो उसमें बेहतरी के भी बहुत असबाब होते हैं।

-अब्दुल हमीद अदम


1.हवादिस - हादिसा का बहुवचन, हादिसे, दुर्घटनाएँ

 2.असबाब - उपकरण, सामान

 

*****

अब इससे क्या गरज कि हरम है कि दैर,
बैठे हैं हम तो साया-ए-दीवार देखकर।

-रविश सिद्दीकी


1.हरम-खुदा का घर, काबा 2. दैर- बुतखाना, मूर्तिगृह, मंदिर

 

*****

अलग हम सबसे रहते हैं मिसाले-तारे-तंबूरा,
जरा छेड़े से मिलते हैं मिला ले जिसका जी चाहे।


1.मिसाल
- समान,जैसे

 

*****

इलाही कैसे होते है जिन्हें है बंदगी की ख्वाहिश,
हमें तो शर्म दामनगीर होती है खुदा होते हुए।

-मीरतकी मीर


1.बंदगी - पूजा, इबादत 2.दामनगीर - दामन पकड़ कर रोकने वाला, दामन पकड़ने वाला

   
*****

 

      page - 1 - 2 - 3 - 4   Next >>