शेर-ओ-शायरी

<< Previous  हौसला (Fearlessness)  Next>>

जहाँ जुल्मत का मंजर, आंधियों का आशियाना है,
वहाँ 'आजाद' पैगामे-चरागाँ ले के आया है।

-जगन्नाथ 'आजाद'


1.जुल्मत - अंधेरा, अंधिआरा 2.आशियाना - (i) ठिकाना,स्थान (ii) घोसला, नीड़, कुलाय 3. पैगाम - संदेश, समाचार 4. चरागाँ - जलते हुए चरागों की कतारें, दीपावली
 

*****


जा ही लेंगें करीबे -साहिल अहले-हिम्मत डूबकर,
खौफे - तूफां से लरजता नाखुदा रह जायेगा।

-नसीर अफसर


1.करीबे-साहिल - किनारे के करीब 2. अहले-हिम्मत - हिम्मत वाले, साहसी 3. नाखुदा - मल्लाह, नाविक, कर्णधार
 

*****

जिन्दगी के जुल्म भी जिसको न हैराँ कर सके,
मौत की तकलीफ से वह लोग घबरायेंगे क्या।

-अब्दुल हमीद 'अदम'
 

*****

 

जिस किसी में हिम्मते-परवाज है,
वह फिजा-ए-वक्त का शहबाज है।


1. हिम्मते-परवाज - उड़ान की हिम्मत 2.शहबाज - शिकारी बाज, श्येन

 

*****
 

<<Previous  page -1-2-3-4-5-6-7-8-9-10-11-12-13-14-15-16-17-18-19-20-21-22-23-24-25-26-27-28-29-30-31-32-33-34-35-36  Next>>