शेर-ओ-शायरी

<< Previous  हौसला  (Fearlessness) Next >>

कारवां चलते हैं मंजिल का सहारा लेकर,
और मंजिल की कशिश रहनुमा होती है।


1. रहनुमा - मार्गदर्शक, पथप्रदर्शक, रास्ता दिखाने वाला

 

*****

किश्ती को तूफान से बचाना तो सहज है,
तूफान के वकार का दिल टूट जायेगा।

-नरेश कुमार 'शाद'


1. वकार - प्रतिष्ठा, इज्जत

 

*****

किस लिये शिकवा करें हम कातिबे-तकदीर का,
दिन बदल सकते है जब इन्सान के तदबीर से।


1. कातिबे-तकदीर - तकदीर लिखने वाला

2. तदबीर - (i) मेहनत, परिश्रम, प्रयत्न, कोशिश (ii) उपचार, इलाज

 

*****

कुछ और बढ़ाओ अब लो मशाल हिम्मत की,
मंजिल के करीब आकर बढ़ती है थकन यारों।

 

*****

 

<< Previous  page -1-2-3-4-5-6-7-8-9-10-11-12-13-14-15-16-17-18-19-20-21-22-23-24-25-26-27-28-29-30-31-32-33-34-35-36   Next >>