शेर-ओ-शायरी

 खुद्दारी  (Self-respect) Next >>

अलग हम सबसे रहते हैं मिसाले तारे - तंबूरा,
जरा छेड़े से मिलते हैं मिला ले जिसका जी चाहे।

 

1.मिसाले - सम्मान

 

*****

एक तुम हो कि वफा तुमसे न होगी, न हुई,
एक हम कि तकाजा न किया है, न करेंगे।

-हसरत मोहानी


1.वफा - मित्र के साथ तन,मन और धन से निबाहना,

वफादारी, निबाह, निर्वाह
2.तकाजा - माँग, किसी काम के लिए किसी से बराबर कहना

 

*****

 
खाली है मेरा सागर तो सही, साकी को इशारा कौन करे,
खुद्दारिये-साइल भी कुछ है, हर बार तकाजा कौन करे।

-आनन्द नारायण मुल्ला


1.सागर - शराब का पिलाया, पानपात्र 2. साइल - (i) मांगने वाला, भिक्षुक (ii) प्रार्थी, दरख्वास्त करने वाला 3.तकाजा - माँग, दिए हुए रूपए या वस्तु की मांग, किसी काम के लिए किसी से बराबर कहना

 

*****

छोड़ दीजे मुझको मेरे हाल पर,
जो गुजरती है गुजर ही जायेगी।

-असर लखनवी

 

*****

 

                                            page - 1 - 2 - 3 - 4  Next >>