शेर-ओ-शायरी

   साक़ी Next >>

अलग बैठे थे फिर भी आँख साकी की पड़ी मुझ पर,
अगर है तिश्नगी कामिल तो पैमाने भी आयेंगे।
-मजरूह सुल्तानपुरी


1.तिश्नगी -(i) प्यास, पिपासा, तृष्णा (ii) लालसा, अभिलाषा, इश्तियाक
2.कामिल - पूरा, सम्पूर्ण, मुकम्मल 3. पैमाना - शराब का गिलास

 

*****

आंखों को बचाये थे हम अश्के-शिकायत से,
साकी के तबस्सुम ने छलका दिया पैमाना।


1पैमाना - शराब पीने का गिलास, प्याला।

 

*****

ऐ दिल, तुझे जेबा नहीं साकी की खुशामद,
मैखाना खिंचा आयेगा, किस्मत में अगर है।


1. जेबा - शोभा देना, सुन्दर लगना

 

*****

कोई मौसम हो कोई साकी,
हमको मतलब है फकत पीने से।

-'मख्मर' देहलवी

 

*****

 

                       page - 1 - 2 - 3 - 4 - 5 - 6 - 7  Next >>