शेर-ओ-शायरी

<< Previous  जिंदादिली (A tendency of mind to remain happy in all situations)  Next>>

जमाना जो आतिशफिशाँ है तो क्या गम,
हम आतिशकदे को गुलिस्ताँ करेंगे।

-'शकील' बदायुनी


1.आतिशफिशाँ - आग बरसाने वाला 2. आतिशकदा - अग्निशाला,

वह स्थान जहाँ चुल्हा या भट्ठी जलती हो


*****


जल भी जाये नशेमन तो परवा नहीं,
बिजलियों से मेरा दोस्ताना तो है।


1.नशेमन - आशियाना, घोंसला
 

*****

जहाने-रंगो-बू में क्यों तलाशे-हुस्न हो मुझको,
हजारों जलवे रख्शिंदा है मेरे दिल के पर्दे में।

-'शकील' बदायुनी


1.जहाने-रंगो-बू - रंग और खुश्बू की दुनिया 2. जलवा - नज्जारा
, दृश्य, तमाशा
3. रख्शिंदा- चमकने वाले, दीप्त, प्रकाशमान


*****


जिन्दगी कब है साजगार हमें,
फिर भी कमबख्त से प्यार है हमें।

-नरेश कुमार 'शाद'


1.साजगार - अनुकूल, मुआफिक, जो बात रास आ जाए, मुबारक

 

*****

                 

<< Previous    page - 1-2-3-4-5-6-7-8-9-10 -11-12-13-14-15-16-17-18-19-20-21-22-23-24-25-26-27-28- 29-30-31-32-33-34-35-36-37-38-39-40-41-42-43-44-45-46  Next>>