शेर-ओ-शायरी

अब्दुल गफ्फार  (Abdul Gaffar)  

नहीं है ताब गमे-जिन्दगी उठाने की,
बता दे राह कोई अब शराबखाने की।

1.
ताब -  ताकत, शक्ति, सहनशक्ति

*****