शेर-ओ-शायरी

 अज़ीज़ वारिसी  (Aziz Varisi)  

 

कयामत तक रहे साकी सलामत तेरा मैखाना,
पिलाई है कुछ ऐसी, कैफ जिसका कम नहीं होता।

1.
कैफ   हलका नशा, आनन्द, सुख
 

*****